बैकुंठपुर कोरिया 7 नवंबर।

कन्याओं कोशिक्षित और स्वस्थ बनाने के उद्देश्य से आगामी 9 नवंबर कोकाले हीरे की नगरी चिरमिरी में मुख्य मंत्री श्री भूपेश बघेल 16 बच्चियों को नोनी सुरक्षा योजना के अंतर्गत 1-1 लाख रूपए के बांड पेपर वितरित करेंगें|

यह 16 बच्चियां जिला महिला एवं बाल विकास विभागकेएकीकृत बाल विकास परियोजना खडगवां के  अखराडांड,बरमपुर,झापीमहुआ, महादेवडांड, राघवगंज,दुबछोला,औरलोहारपारा सेहैं|

जिला कार्यक्रम अधिकारी चन्द्रवेश सिंह सिसोदिया ने बताया:‘‘नोनी सुरक्षा योजना  बच्चियों के सुखद और समृद्ध भविष्य की प्रशासनिक कामना है| समस्त बेटियों के सुरक्षित भविष्य की जिम्मेदारी हम सब लोगों की है।‘’

छत्तीसगढ़ सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा यह योजना चलाई जा रही है जिसका उद्देश्य राज्य की बेटियोंकी शिक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार करना है। इससे बच्चीके अच्छे भविष्य के लिए नींव रखने में मदद मिलती है। नोनी सुरक्षा योजना के माध्यम से सरकार को बाल विवाह या बल पूर्वक विवाह की रोकथाम में भी आवष्यक सहयोग मिल रहा है।

एकीकृत बाल विकास परियोजना खडगवां की परियोजना अधिकारी निर्मला बरूआ ने बताया ‘‘ सभी लाभान्वित होने वाले बच्चियों के परिजनो को गृहभेंट कर कार्यक्रम की सूचना दे दी गई है, भविष्य में भी हम शासन की मंशानुरूप पात्र लाभर्थियों को सीधे लाभ देने के लिए संकल्पित है।‘‘

नोनी सुरक्षा योजना के बीमा बांड  अखराडांड की कु. श्रैया, बरमपुर की कु.खुश्बू,झापीमहुआ की कु. प्रिया सिंह कु. श्रीजल, महादेवडांड की कु.दिव्या, राघवगंज की कु.अनामिका, कु.खुश्बु यादव, कु. मेघना, लोहारपारा की स्वाति,दुबछोला की कु.ज्योति, कु. साक्षी, कु. प्राप्ति, कु. सत्यभावना, कु. अनिता, कु. दुर्गावती, कु. ईसा सिंह को दिया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कन्या भ्रूणहत्या को हतोत्साहित करने, लिंगानुपात को कम करने, बालिका शिक्षा की ओर ध्यान बढ़ाने,  और बाल विवाह को रोकने के लिए “नोनी सुरक्षा योजना’’ का संचालन किया जा रहा है। इसके तहत बालिका के 18 वर्ष पूर्ण होने, 12 वी कक्षा की पढ़ाई पूर्ण करने व बाल विवाह नही करने  पर महिला एवं बाल विकास व जीवन बीमा कंपनी (एलआईसी) द्वारा 1.00 लाख रुपये उक्त बालिकाओ  के बैंक खाते मे जमा किया जाता है।

नेशनल हेल्थ एंड फॅमिली सर्वे (एनएचएफएस)-4 के आंकड़ों के अनुसार कोरिया जिले मे महिलाओ की साक्षरता दर  61.5%है और कम उम्र में विवाह की दर शहरी क्षेत्रों मे17.5%और ग्रामीण

SHARE