December 2, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

अनियमित कर्मचारियों ने राजधानी में आंदोलन का खर्च जुटाने भीख मांगकर जुटाए 13,000 रूपये, भिखारियों ने भी दिया दान

रायपुर। 19 दिन से अनियमित कर्मचारियों की चार सूत्रीय मांगों को लेकर चल रही हड़ताल की सुनवाई न होते देख अब इन आंदोलनकारियों ने सरकार तक अपनी आवाज पहुचने रोज नए तरीके अपना रहे हैं। कभी पकौड़े बेचकर तो कभी भीख मांगकर हालांकि अभी तक सरकार और आंदोलनरत कर्मचारियों के बीच कोई बात बानी नही है।

आंदोलन के 19 दिन अनियमित कर्मचारी शहर के अलग अलग चौराहों पर भीख मांगते नजर आए। भीख मांगते हुए अपने जनता से अपनी व्यथा सुनाकर समर्थन भी मांगा। भिखारी भी कई जगह भीख देते नजर आए।

आंदोलनरत कर्मचारियों के अनुसार दिन भर में 13,000 रुपये भीख से चंदा इकट्ठा हुआ जिससे आंदोलन की जरूरतों पर खर्च किया जाएगा। इसके एक दिन पहले पकौड़े तलकर कुछ पैसे इकट्ठा किये थे।

इन सब तरीकों से प्रदर्शन के बाद भी सरकार ने अभी तक कोई सुनवाई नही की है। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार सरकार का यह मानना है अगर जल्दी बातचीत नही होती तो आंदोलन धीरे-धीरे अपने आप टूट जाएगा।

Spread the love

You may have missed