October 5, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

अब होगी बच्चों के मन की बात-बाल अधिकार संरक्षण आयोग के साथ

रायपुर (सुयश ग्राम) देश में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी “मन की बात” रेडियो में कर रहे हैं. इधर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह मन की बात तर्ज पर रेडियो के माध्यम से “रमन के गोठ” कर रहे हैं. अब छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी “बच्चों के मन की बात-आयोग के साथ” प्रारंभ की है. आप सोच रहे होंगे अब आयोग भी कोई प्रसारण करके बच्चों को कुछ सुनाएगा, तो ऐसा नहीं है ये प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के मन की बात से अलग है. प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के मन की बात में एक बोलते है और कई सुनने वाले होते है. जबकि आयोग की मुहिम एकदम उल्टा है, यहाँ कई बच्चे बोलेंगे और आयोग सभी की सुनेगा.
छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती विभा दुबे ने सुयश ग्राम को बताया कि बच्चों के मन की बात जानने के लिए आयोग ने सार्वजनिक स्थानों एवं शालाओं के निकट जहाँ बच्चों की पहुच आसान हो, ऐसी जगहों पर “शिकायत/सुझाव पेटी” लगाई जा रही है. बच्चे निर्भीक होकर अपनी शिकायत/सुझाव पेटी में डाल सकते हैं आयोग द्वारा त्वरित कार्यवाही की जावेगी साथ ही बच्चों की शिकायत पूर्णतः गोपनीय रखी जावेगी एवं किसी भी बच्चे की पहचान उजागर नहीं की जावेगी. वर्तमान में में इस तरह की शिकायत सुझाव पेटियां रायपुर में 15 एवं बिलासपुर में 5 लगायी गई है. भविष्य में अन्य जिलों में भी लगायी जावेंगी.
बच्चे शिकायत पेटी के अलावा भी आयोग के मोबाइल एप, बेव साईट www.cgscpcr.com , टोल फ्री न. 1800-233-0055 एवं कार्यालय में भी सीधे शिकायत सुझाव भेज सकते हैं.

Spread the love

You may have missed