December 2, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

असुविधाओं के बीच हुआ स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम का अंतिम पूर्वाभ्यास, मैदान नहीं था दुरूस्त, कार्यक्रम में नहीं पहुंचे कलेक्टर

बालोद। डिलेश्वर देवांगन। बालोद जिला मुख्यालय के स्व. सरयूप्रसाद अग्रवाल स्टेडियम में प्रत्येक वर्ष राष्ट्रीय पर्व का आयोजन होता है और इस साल भी स्वतंत्रता दिवस का आयोजन इसी मैदान में होने वाला है। जिसके लिए हर साल लगभग एक सप्ताह पहले से तो पालिका व विभिन्न विभाग के अधिकारी कर्मचारी मैदान दुरूस्त करने सहित अन्य कार्यों के लिए जुट जाते थे, लेकिन इस वर्ष राष्ट्रीय पर्व को लेकर न तो पालिका ध्यान दे रही है और न ही अन्य विभाग। जिसके कारण सोमवार को स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम का अंतिम पूर्वाभ्यास के दिन तक तैयारियों का आभाव मैदान में देखा गया। मैदान तालाब की तरह भरा रहा जिसके कारण सरयुप्रसाद मैदान में आयोजित होने वाले कार्यक्रम ऐन वक्त में सरदार पटेल मैंदान में आयोजित हुआ। वहीं इससे पूर्व में जब भी राष्ट्रीय पर्व के लिए अंतिम पूर्वाभ्यास होता था तो कलेक्टर उपस्थित रहते थे लेकिन सोमवार को पूरे कार्यक्रम के दौरान कलेक्टर नहीं पहुंचे। जब ऐन समय में नृत्य व व्यायाम के अंतिम पूर्वाभ्यास स्व. सरयुप्रसाद अग्रवाल स्टेडियम की जगह सरदार पटेल मैदान में हुआ तो आनन फानन में स्कूली बच्चे सरदार पटेल मैदान पहुंचे।

15 अगस्त जो भारत देश के लिए सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है। इस दिन देशभर के छोटे बड़े गांवों सहित शहरी ईलाकों के साथ साथ सभी शासकीय, निजी दफ्तरों में बड़े ही धूमधाम के साथ त्यौहार मनाया जाता है। लेकिन बालोद जिला मुख्यालय में राष्ट्रीय त्यौहार को लेकर जिला प्रशासन की सक्रियता नहीं देखी जा रही है। ऐसा इसलिए क्योंकि 2 दिन बाद स्वतंत्रता दिवस है और अब तक तैयारियां नहीं की है। प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त व 26 जनवरी को लेकर प्रशासन की ओर से मैदान को दुरूस्त करने लाखों रूपये खर्च किये जाते हैं। लेकिन आज भी मैदान की स्थिति काफी दयनीय है।

करोड़ो रुपय खर्च करने के बाद भी स्टेडियम बदहाल

सरयू प्रसाद अग्रवाल स्टेडियम को करोड़ो रुपय खर्च कर निर्माण किया गया था । स्टेडियम निर्माण के बाद कुछ वर्षो बाद स्टेडियम को जिला के अनरूप विकसित करने के लिए करोड़ो रुपय और खर्च किया गया था । स्टेडियम के साज सज्जा के साथ ही दूरदराज से आने वाले खिलाडीयो के लिए कमरे का निर्माण किया गया था। साथ ही दर्शको के बैठने के लिए सीडी बनाई गई थी। बारिश व धुप से बचने के लिए टीन की शेड लगाई थी। टीन शेड लगाने के कुछ महीनो के बाद आधी तूफान की भेट चढ गई। टीन शेड पूरी तरह से उखड़ गई जिसके कारण स्टेडियम की खूबसूरती पर ग्रहण लग गई हैं। वहीं दर्शको के बैठने के लिए सीडी बनाई थी। सीडी में टाइल्स भी लगाया गया था जो पूरी तरह से उखड़ने लगी हैं। जिसमे दर्शक बैठने के लिए मजबूर हैं। इस तरह से शासन के पैसे को खुलकर दुरूपयोग किया जा रहा हैं।

सभी बड़े शासकीय कार्यक्रमों का होता है आयोजन

बता दें कि बालोद जिला मुख्यालय में एक मात्र बड़ा स्टेडियम स्व. सरयुप्रसाद स्टेडियम है। जहां सभी बड़े शासकीय कार्यक्रमों का आयोजन इसी स्टेडियम में होता है। ज्ञात हो कि 5 जुलाई 2018 को मुख्यमंत्री की उपस्थिति में विकाय यात्रा कार्यक्रम का आयोजन इसी स्टेडियम में हुआ था और अन्य निजी व शासकीय कार्यक्रमों का आयोजन होता है बावजूद इसके बालोद जिला प्रशासन की निष्कृयता के चलते आज तक मैदान को दुरूस्त नहीं किया गया है। जब कार्यक्रम आयोजित होता है तब काम निपटाने के लिए तैयारी कर दी जाती है उसके बाद मैदान की ओर न तो निकाय ध्यान देती है और न ही जिला प्रशासन।

स्टेडियम में शराबियो का डेरा

सरयू प्रसाद अग्रवाल स्टेडियम देख रेख के आभाव में असामाजिक तत्वों का डेरा बन गया हैं। शाम होते ही लोग अपने अपने साथियो के साथ स्टेडियम में पहुचते हैं जो की रात्रि तक जाम झलकाते हैं। कई बार लोग अधिक शराब की सेवन कर लेते हैं जिसके कारण इस दूसरे में तू तू मैं मै की स्थिति निर्मित हो जाती हैं । इसके वजह से वजह से आस पास के लोग हलाकान हो गए हैं। नगर पालिका द्वारा स्टेडियम के गेट को खुला छोड़ देते हैं जिसका फायदा उठाते हुए मदिरप्रमी और असामाजिक तत्व का प्रमुख अड्डा बन गया हैं।

Spread the love

You may have missed