July 5, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

जोगी के धर्मग्रंथों को छूने पर युद्धवीर सिंह जूदेव ने जताई आपत्ति, फेसबुक पोस्ट के जरिए झीरम कांड को याद किया …

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमो अजीत जोगी के शनिवार को भाजपा को न समर्थन देने न लेने की बात धर्मग्रंथों की शपथ लेकर कहने पर आपत्ति सामने आने लगी है, इसमें अगवाई भाजपा के ही नेता युद्धवीर सिंह जूदेव करते हुए फेसबुक में अपने पोस्ट के जरिए जोगी पर तीखा प्रहार किया है।

युद्धवीर ने अपने फेसबुक पोस्ट में एक तरफ जहां जनता कांग्रेस के नेता अजीत जोगी पर ईसाई होकर गीता और सतनाम ग्रंथों को छूने पर आपत्ति जताई वहीं दूसरी ओर झीरम कांड का जिक्र करते हुए कहा कि झीरम कांड में खरसिया की माँ आज भी दरवाजे में अपने बेटे का इंतजार कर रही है। एक 4 साल का बेटा आज तक अपने पिता को नहीं देख पाया। मैं तो झीरम कांड के लिए कोर्ट जाऊँगा और पीड़ीत परिवार को इंसाफ दिलाऊँगा।

झीरम पर फिर नई बहस छेड़ने की कोशिश

युद्धवीर ने जोगी द्वारा धर्मग्रंथ के छूने पर आपत्ति से पोस्ट शुरू की, लेकिन झीरम की बात कहकर उन्होंने फिर से एक नई बहस छेड़ने की कोशिश की है। यही नहीं उन्होंने पार्टी लाइन को दरकिनार कर पड़ोसी विधानसभा क्षेत्र के शहीद कांग्रेसी नेता के प्रति गहरा सम्मान और संवेदना जताई है, जबकि खरसिया में काँग्रेस और भाजपा में चुनावी झड़प और एफआईआर तक हो चुकी है। देखना है युद्धवीर की यह पहल क्या रंग लाती है।

Spread the love

You may have missed