December 2, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

पुलिस को बड़ी कामयाबी : एक रात में गाड़ी को लूटकर ड्राइवर की हत्या कर दी उसी रात दो पेटोल पंप लूटे, चार जिलों में अपराध को अंजाम देने वाले 3 खूंखार अपराधी हुए गिरफ्तार

बालोद। डिलेश्वर देवांगन। अपराधी कितना भी शातिर हो कोई न कोई सबूत छोड़ ही जाता है। एक कहावत है तुम डाल डाल तो मैं पात पात, बालोद जिले की पुलिस और अपराधियों के बीच चरितार्थ हो रही है। एक ओर जहां आरोपी अपराध करने के लिए कई प्रकार के पैतरे अपनाते हैं तो वहीं दूसरी ओर आरोपियों के सभी हथकंडों को पीछे छोंड़ आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ ही जाते हैं। बालोद जिले के आरोपियों ने छत्तीसगढ़ के चार जिलों में एक के बाद एक अपराधों को अंजाम दिया।

अपराधियों ने पहले एक जिले में गाड़ी लूटकर ड्राइवर का मर्डर किया, दूसरे जिले में लास फेकी उसके बाद उसी दिन दो जिलों में दो पेट्रोल पंप लूटे। एक पेट्रोलपंप का सीसीटीवी फुटेज आरोपियों को शिकार बना ही लिया और संदेह के आधार पर बालोद पुलिस ने तीन लोगों को अपने गिरफ्त में लेकर कड़ाई से पूछताछ की जिससे आरोपियों ने अपराध करना पुलिस के सामने कबूल कर किया है।

बालोद जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जे.आर.ठाकुर ने सोमवार को पत्रकार वार्ता लेने के साथ ही इस पूरे मामले का खुलासा किया। इस दौरान श्री ठाकुर ने बताया कि 14 अगस्त को अज्ञात तीन व्यक्ति बलौदाबाजार जिले के एक सुनसान इलाके में एक स्कार्पियो को लिफ्ट मांगने के बहाने रोका और थोड़ी ही दूर पर जाने के बाद पेशाब करने के बहाने गाड़ी रूकवाया और वाहन चालक के साथ मारपीट करने लगा। बात यहां तक नहीं थमी तो उन अज्ञात लोगों ने चालक का गला दबाकर हत्या भी कर डाली।

बलौदाबाजार में की हत्या बिलासपुर में फेंकी लाश

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपियों ने स्कार्पियो चालक की हत्या तो बलौदा बाजार जिले में की थी लेकिन शव को बिलासपुर जिले में फेक दिया था। जहां बिलासपुर पुलिस को 15 अगस्त को शव मिला और जांच में जुट गई थी। बता दें कि आरोपियों द्वारा विभिन्न स्थानों पर किये अपराध के दौरान कहीं पर भी मोबाईल का इस्तेमाल नहीं किया था।

बिल बनवाने का बहाना कर करते थे पेट्रोल पम्प में लूट

हत्या करने वाले तीन अज्ञात आरोपियों का अपराध यहां नहीं थमा तो बिलासपुर, जांजगीर चांपा, रायगढ़ जिले में स्कार्पियो से भ्रमण करते हुए पेट्रोल पंपों में लूट पाट भी की। श्री ठाकुर ने बताया कि यह आरोपी इन चारों जिलों में पेट्रोल पंप में जाकर गाड़ी में डीजल डलवाते थे और पेट्रोल डालने वाले कर्मचारी को बिल बनाने बोलते थे जैसे ही कर्मचारी का ध्यान भटकता वैसे ही कर्मचारी के बैग को लूटकर फरार हो जाते।

सीसीटीवी फुटेज बना आरोपियों का शिकारी

पत्रकार वार्ता के दौरान खुलासा हुआ कि लूट हुए एक पेट्रोल पंप से सीसीटीवी फुटेज निकाला गया था। फुटेज को छग के सभी जिलों में भेजा गया था और इसी फुटेज के आधार पर बालोद जिला पुलिस टीम द्वारा सक्रियता से मामले की खोजबीन में जुट गई। विगत दिनों लाटाबोड़ पेट्रोल पंप में लुटपाट की घटना ठीक चार जिलों में हुई घटना से मिल रही थी जिसके आधार पर लाटाबोड़ पेट्रोल पंप लूटने वाले आरोपियों को पुलिस ने अपने गिरफ्त में लिया और कड़ाई से पूछताछ की तब कहीं जाकर आरोपियों ने लूटपाट व मर्डर करना कबूल किया। गिरफ्तार हुए आरोपियों में बालोद जिले के नेवारीकला निवासी थानूराम निषाद, खोमन लाल साहू व खपरी (मालीघोरी) निवासी डोमेन्द्र शामिल है।

बता दें कि 14-15 अगस्त की रात में कुछ व्यक्तियों ने स्कॉर्पियों में सवार होकर पेट्रोल पंप पर आए। डभरा के पेट्रोल पंप में रात करीब 12 बजे आए और 60 हजार की लूट कर फरार हो गए थे उसके बाद सारंगढ़ में डीजल डलाने के बहाने रात करीब साढ़े तीन बजे 1 लाख 50 हजार रूपए की लूट को अंजाम देकर फरार हो गए. इस तरह अज्ञात लूटेरों ने कुल मिलाकर करीब 2 लाख रुपए की लूट उसी रात की थी।

वारदात के बाद पुलिस को लावारिश मिली गाड़ी

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार घटना की खबर लगने के बाद रायगढ़ पुलिस एवं क्राइम ब्रांच की टीम ने इनका पीछा किया, लेकिन इनका कोई सुराग नहीं मिल सका। जिसके बाद पिथौरा थाना क्षेत्र में पुलिस ने वाहन को लवारिस हालत में बरामद किया है। पुलिस ने वाहन को कब्जे में ले लिया था उक्त वहान बलौदाबाजार जिले का रजिस्ट्रेशन पास था। उसी दिन 15 अगस्त को ही बिलासपुर पुलिस को लावारिस लास मिली थी।

Spread the love

You may have missed