July 5, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

राजधानी रायपुर से बसपा विधायक प्रत्यासी का अपहरण!

रायपुर। बहुजन समाज पार्टी के कोंटा से विधानसभा प्रत्याशी बुधराम कटामी का रायपुर स्थित पार्टी के प्रदेश कार्यालय के सामने से अपहरण हो गया है।अपहरण के वारदात के दौरान बुधराम के साथी प्रत्यक्षदर्शी उनके साथ मौजूद थे, जिन्होंने मीडिया को अपहरण की सूचना दी।

बस्तर कोंटा सीट से छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे), बसपा और सीपीआई महागठबंधन के प्रत्याशी के खिलाफ बागी तेवर दिखाने वाले बसपा प्रत्याशी बुधराम कटामी का मोबाईल भी बंद आ रहा है।

प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार बसपा के कोंटा विधानसभा से प्रत्याशी बुधराम कटामी को गुरुवार की रात लगभग 10 बजे न्यू राजेन्द्र नगर बसपा प्रदेश कार्यालय के आसपास से स्कार्पियो सवार कुछ लोगों ने जबरन गाड़ी में बैठकर के ले गए है। बताया जा रहा है नामांकन भरने के बाद से बुधराम कोटामी को धमकियां भी मिल रही थी। बसपा प्रदेश उपाध्यक्ष हेमंत पोयाम ने बताया कि सभी 6 प्रत्याशी सहित जिला अध्यक्ष भी पार्टी कार्यालय रायपुर आए हुये हैं। इसी दौरान पार्टी कार्यालय से बाहर मोबाइल में बात करते हुए स्कार्पियों क्रमांक CG 04 LQ 1007, में सवार कुछ लोग बुधराम कोटामी को अपहरण करके अपने साथ ले गए है। जिसकी शिकायत प्रदेश अध्यक्ष ओ पी वाचपेयी ने दूरभाष पर रायपुर पुलिस अधीक्षक से कर दी है।

उल्लेखनीय है कि जोगी कांग्रेस, बसपा, सीपीआई महागठबंधन के बाद सीपीआई ने कोंटा विधानसभा क्षेत्र से मनीष कुंजाम को प्रत्याशी बनाया गया है, जिसके विरोध में बसपा के बुधराम करतामी ने कोंटा से नामांकन भरकर महागठबंधन के विरूद्ध बगावत शुरू कर दी थी। जनता कांग्रेस सुप्रीमों अजित जोगी ने सीपीआई से भी गठबंधन कर सीपीआई को बस्तर क्षेत्र के दो सीटों में समर्थन देने की बात कही थी, जिसमें विधानसभा कोंटा भी शामिल है, इस सीट पर सीपीआई ने पहले से मनीष कुंजाम को अपने प्रत्याशी बनाकर मैदान पर उतारा है, वही बसपा के बुधराम कटामी ने कोंटा विधानसभा से नामांकन फॉर्म भरकर अपनी दावेदारी ठोक दी थी। इसे लेकर महा गठबंधन में जमकर खींचतान भी देखने को मिली थी।
अपहरण की हकीकत क्या है यह तो बुधराम कटामी के सामने आने के बाद ही पता चलेगा।

Spread the love

You may have missed