October 5, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

राहुल गांधी का बीजेपी और संघ पर हमला, कहा हमें डराया जा रहा- देश में भय का माहौल

रायपुर (सुयश ग्राम ) कर्नाटक चुनाव हारने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ‘हम लड़ते रहेंगे’ के संकल्प के साथ छत्तीसगढ़ पहुंचे हैं। दो दिवसीय दौरे पर रायपुर पहुंचे राहुल गांधी ने रैली को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधा। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष आज रायपुर में पंचायत जनस्वराज सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी सरकार और भाजपा पर जमकर बरसे. राहुल ने कहा आमतौर पर जनता न्याय के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर जाती है. लेकिन 70 साल में पहली बार आपने देखा होगा कि सुप्रीम कोर्ट के जज को प्रेस के सामने आकर सबकुछ कह रहे हैं, हमें आपकी जरूरत है. हमे डराया जा रहा है , धमकाया जा रहा है. हम अपना काम नहीं कर पाए रहे हैं. ये किसी लोकतांत्रिक देश में पहली बार हुआ. उन्होंने आगे कहा आज हमारे प्रेस के मित्र भी डरकर बोलते हैं. देखते हैं कोई मार न दे, एक तरफ हत्या का आरोपी जो देश की नेशनल पार्टी के अध्यक्ष हैं, 4 जज कह रहे हैं हम काम नहीं कर पा रहे हैं, और एक तरफ डरा हुआ प्रेस है. जो डर जस्टिस के अंदर है वही डर प्रेस के अंदर भी है. और वही डर भाजपा के सांसदों में है, कुछ भाजपा के सांसद मुझसे कहते हैं हम प्रधानमंत्री के सामने कुछ नहीं कह सकते. महाराष्ट्र के एक सांसद ने किसानों की बात कही उसे आउट कर दिया गया.
जेटली कहते हैं किसान का कर्ज माफ करना हमारी पॉलीसी नहीं है एक साल के भीतर 15 सबसे अमीर लोगों का कर्जा माफ कर दिया जाता है. जबकि किसान का कर्ज माफ़ी इनकी पालिसी में नहीं है. आज देश के बड़े शैक्षणिक संस्थानों में आर एस एस के लोगों को भरा जा रहा है. लेकिन कांग्रेस ने कभी ऐसा नहीं किया. आगे राहुल गाँधी ने कहा यदि अमेरिका का राष्ट्रपति कहता है कि चाइना और भारत से ही हमारा कॉम्पिटिशन है क्योकि यह अलग-अलग संस्थाएं है. मगर आरएसएस और बीजेपी नहीं चाहती कि देश की गरीब जनता की आवाज हो. वो नहीं चाहते कि रोहित वेमुला जैसा दलित युवा सपना देख सके. उनके हिसाब से आदिवासी की जगह है, दलित की जगह है. और ये लोग जगह से नहीं हिलनी चाहिए. इनकी विचारधारा है कि महिला की आवाज खुलकर नहीं गूंजना चाहिए. इनकी नजर में महिला का काम केवल खाना पकाना है.

Spread the love

You may have missed