July 5, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

रीवा के एक स्कूल में नाबालिक बच्चियों से दबाव पूर्वक शौचालय साफ़ करने का वीडियो हुआ वायरल, बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ राघवेन्द्र शर्मा ने कहा जांच कर दोषियों पर होगी कार्यवाही

रीवा/भोपाल मध्यप्रदेश के रीवा जिले के जनपद पंचायत सिरमौर के अंतर्गत ग्राम मोहरबा शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय में नाबालिक बच्चियों से विद्यालय का शौचालय साफ़ काराने का मामला प्रकाश में आया. आरोप है कि नाबालिक बच्चियों से विद्यालय के ही शिक्षक दवाब पूर्वक ऐसा घृणित कार्य करा रहे थे. बच्चों ने अपने घर में कई बार इस बात की शिकायत की थी लेकिन परिजन यह मानने को तैयार नहीं थे. बच्चों के बार-बार शिकायत के बाद गाँव के लोगों ने शौचालय साफ़ करते हुए वीडियो रिकॉर्ड कर लिया.

उक्त वीडियो शोशल मीडिया में वायरल हुआ साथ ही ग्रामीण और परिजन रीवा मुख्यालय पहुच कर जिला शिक्षा अधिकारी को शिक्षकों के इस कृत्य की शिकायत भी की है. जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत देने के एक मांह बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होना विभाग को संदेह के घेरे में खड़ा कर दिया है.

जाँच दल द्वारा शिकायत वापस लेने का दवाब
प्राप्त जानकारी के अनुसार पास के ही दो स्कूलों शाहपुर और खड्डा से १-१ शिक्षक का जाँच दल बनाकर भेजा गया था, जो शिकायतकर्ता से शिकायत वापस लेने का दबाव बना रहे थे किन्तु ग्रामीणों के विरोध के बाद वापस आ गए.

जल्द होगी कार्यवाही- जिला शिक्षा अधिकारी

इस मामले में एसजी न्यूज़ ने जिला कलेक्टर से पक्ष जानने के लिए फ़ोन किया किन्तु बात नहीं हो पायी. जिला शिक्षा अधिकारी अंजनी कुमार त्रिपाठी एसजी न्यूज़ से बात करते हुए बतया कि हमारे पास दो अधिकारी हैं जो जांच में जाते हैं किन्तु उनमे से एक अधिकारी का अवकास में होने एवं स्वयं हाई कोर्ट में किसी विषय को लेकर व्यस्त होने के कारण जांच में देरी होना बताया. श्री त्रिपाठी ने कहा हम बच्चों की किसी भी शिकायत को लेकर त्वरित कार्यवाही करते हैं बच्चे हामरे लिए सर्वोपरि हैं. इस मामले में जल्द जांच कर कार्यवाही की जाएगी. जाँच दल द्वारा शिकायत वापस लेने का दवाव बनाने के प्रश्न पर श्री त्रिपाठी ने कहा इस विषय की जानकारी नहीं है.

जाँच कर होगी कार्यवाही- डॉ राघवेन्द्र शर्मा, अध्यक्ष म.प्र. राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग

नाबालिक बच्चों से दबाव पूर्वक शौचालय साफ़ करने के मामले में मध्यप्रदेश राज्य बाल अधिकार आयोग के अध्यक्ष डॉ राघवेन्द्र शर्मा एसजी न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि “आयोग मामले को संज्ञान में लेकर जांच करेगा, यदि कोई दोषी पाया जाता है तो आयोग नियमतः कार्यवाही करेगा” साथ ही मामले की वीडियो और शिकायत की कापी उपलब्ध करने को कहा है जो एसजी न्यूज़ ने आयोग को भेज दिया है.

Spread the love

You may have missed