December 2, 2022

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

लगातार बारिश से टुटा कई गांव का संपर्क, मुलभूत सुविधा के लिए तरस रहे लोग, सेल्फी के चक्कर मे जोखिम में डाल रहे थे जीवन

बालोद। डिलेश्वर देवांगन। बालोद जिले में लगातार हुई बारिश से सड़के समंदर में तब्दील हो गई है, कई गांव टापू बन चुके है, कई गांव का शहर से संपर्क टूट चुका है। नदी नाले भी उफान पर है, जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिले की जीवनदायनी तांदुला जलाशय में भी दो दिनों तक हुई लगातार बारिश का असर देखने को मिला। तांदुला नदी लगातार बारिश के कारण छलकने लगा जहां लोग मंगलवार सुबह छलकती तांदुला नदी का मजा लेने पहुंचे और जान जोखिम में डाल कर सेल्फी लेते नजर आये। सुबह से प्रशासन की ओर से छलकती तांदुला नदी में किसी प्रकार के कोई सुरक्षा के इंतजाम नहीं किये गय थे। लेकिन पुलिस विभाग के जिम्मेदारों को उपद्रव युवकों की करतूतों के बारे में जैसे ही पता चला तो लगभग 10 से लगातार छलकती तांदुला नहीं में पुलिस के जवान तैनार कर दिये गये। वहीं पुलिस के जवानों के वहां पहुंचते ही उपद्रवी युवकों को फटकार भी लगाई।

लगातार हो रही बारिश से जिले के कई गांव में जनजीवन अस्त व्यस्त है, गुरूर ब्लाॅक के जोरहा नाले में बारिश के चलते नाले में कई फीट उपर से पानी बह रहा है। कई गांव के लोग आज बारिश के कहर की चपेट में है और मूलभूत सुविधा के लिए जूझना पड़ रहा है। बता दें कि इससे पहले उक्त नाले में कई बार हादसे हो चुके हैं लेकिन अब तक प्रशासन की ओर कोई खास इंतजाम नहीं किये गये है। बहरहाल हर साल बारिश के मौसम में ग्रामीणों को इसी तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

दर्जनभर गांव का टूटा संपर्क

गौरतलब हो कि शनिवार देर रात से शुरू हुई बारिश मंगलवार को कुछ थमी। उक्त बारिश के चलते जिले के जोरहा नाला के आसपास आने वाले लगभग दर्जनभर गांव का संपर्क टूट चुका है जो लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। बताया जा रहा है कि उक्त नाले में इसी प्रकार की स्थिति लगभग 3 से 4 दिनों तक बनी रहेगी। बता दें कि इस क्षेत्र में पड़ने लगभग एक दर्जन गांव 10 से 12 दिनों तक मुख्य धारा से अलग रहेंगे। ंग्रामीणों ने बताया कि यहां बारिश होने से पानी नाले के काफी उपर से बहने लगता है। यहां के ग्रामीणों को राशन सामानों के लिए काफी तकलीफ हो रही है। वहीं पानी की अधिकता को देखते हुए उक्त स्कूल में अवकाश की घोषणा कर दी गई है।

आपातकालीन सुविधा देने पहुंची पुलिस व एनडीआरएफ की टीम

गुरूर ब्लाॅक के घोघोपुरी व पेंवरो के बीच पड़ने वाले जोरहा नाला के उफान पर आने से लोगों को आपातकालीन सुविधा के लिए इंतजार करना पड़ रहा था। डीएसपी दिनेश सिन्हा ने बताया कि बालोद जिले के पुलिस विभाग व एनडीआरएफ की टीम जरूरतमंदों की मदद करने के लिए सोमवार देर शाम तक उक्त स्थान पर पहुंच गई थी। रात में किसी प्रकार से रेस्क्यू करना संभव नहीं था इसीलिए सोमवार सुबह 6 बजे जिन्हें अति आवश्यक सुविधा की जरूरत थी और नाले के बीच में फंसे लोगों की मदद की।

Spread the love

You may have missed