September 22, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

प्रतिबंधित होने के बाद भी….ढाई साल के बच्चे को मौत के घाट सुला दिया तेज आवाज मे बजता हुआ डीजे… राजधानी मे गरमाया मामला…

रायपुर, 09 सितम्बर 2021, बिलासपुर में कल डीजे की तेज आवाज से ढाई साल के मासूम अमान की मौत का मामला राजधानी रायपुर में गरमा गया है. मालूम हो कि 30 अगस्त को रात 1:30 बजे डीजे की तेज आवाज में ढाई साल के अमान को अंदर से हिला दिया. दिमाग पर पड़े असर से अमन को ब्रेन हेमरेज हो गया. 7 दिनों तक उसका इलाज चलता रहा और मंगलवार देर रात अमान की सांसे  हमेशा के लिए रुक गई. पिछले ढाई वर्ष से अन्य बीमारी के कारण उसका इलाज चल रहा था.

छत्तीसगढ़ नागरिक संघर्ष समिति ने इस मामले को गंभीरता से लेकर मुख्य सचिव को पत्र लिखकर बताया है कि वर्ष 2019 में गणेश विसर्जन दौरान  भी इसी प्रकार की घटना घटी थी. तब रात में तेज बज रहे कई डीजे की आवाजों के कारण हार्ट अटैक से 2 बुजुर्गों की मृत्यु रायपुर में हो गई थी. विसर्जन के दौरान रात को लगे जाम के कारण उन्हें इलाज के लिए भी नहीं ले जाया जा सका.

रायपुर कलेक्टर ने दी है  नियत स्थान पर धुमाल बजाने की अनुमति

कलेक्टर रायपुर ने 6 सितंबर को जारी आदेश में किसी नियत स्थान पर धुमाल बजाने की अनुमति दी है.

समिति के अध्यक्ष विश्वजीत मित्रा ने मुख्य सचिव को पत्र लिख करके बताया कि माननीय छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने गाड़ियों पर साउंड बॉक्स लगाकर बजने वाले धुमाल पर प्रतिबंध लगा रखा है उसके बावजूद भी और करोना काल में लगे प्रतिबंध के बावजूद भी धुमाल बजते रहे हैं.

समिति ने पत्र की प्रति कलेक्टर रायपुर और पुलिस अधीक्षक रायपुर को भेजकर अवगत कराया है कि पूर्व में दिए गए छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के आदेशों पर अमल नहीं किए जाने के कारण उनके विरुद्ध अवमानना याचिका दायर की गई है जो कि लंबित है.

समिति ने मांग की है कि नियत स्थान पर धुमाल बजाने की अनुमति निरस्त की जावे ताकि बिलासपुर के समान घटना ना घटित हो तथा छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार गणेश स्थापना और विसर्जन के दौरान किसी प्रकार का भी धुमाल नहीं बजाया जावे.

Spread the love

You may have missed